Thursday, March 30, 2017

तब तक ...


जब
मस्जिदों में हवन
मंदिरों से आजान होगी 
झोपड़ियों में मंत्री रहेंगे 
चौपालो पर विधान होगी

जब 
हर आंसू पर 
कार्य स्थगन 
हर भूख पर 
आपातकाल होगा 

तब समझना 
ये मुल्क आज़ाद है 
यहां हर शख़्श 
आबाद होगा 

तब तलक 
राजनीति में मुद्दे 
मुद्दों पर राजनीती का
वही घिसापिटा 
लिजलिजा 
हिसाब होगा 


2 comments:

  1. बहुत खूब सुन्दर पंक्तियां

    ReplyDelete