Showing posts with label Happy New Year Tarun. Show all posts
Showing posts with label Happy New Year Tarun. Show all posts

Tuesday, March 28, 2017

नव वर्ष शुभ हो , मंगलमय हो !

GudiPadwa2017,VikramSamvat2074

नव वर्ष शुभ हो
नव वर्ष मंगलमय हो
यही शुभकामना है

मित्र हो मित्रवत
स्नेही सब रहे साथ
जीवन साथी से
हो मुलाक़ात
और जो बंध चुके है
जीवन भर
थामे रहे
एक दूजे का हाथ
जितना जो है
मिल बाटना है

नव वर्ष शुभ हो
नव वर्ष मंगलमय हो
यही शुभकामना है

जीवन रथ
सुघड़ रहे
सधे
साधू ऐसे
सारथी का
सदा सानिध्य हो
गुरुवर कृपा छाया में
हर रण से सामना है

नव वर्ष शुभ हो
नव वर्ष मंगलमय हो
यही शुभकामना है

आकांक्षाये आकाश छूती
उद्विग्न हो ना ही व्यथित
करे प्रेरित
रखे उर्वर
मन मस्तिष्क को
सोना नहीं इस वेला में
अब जागना है

नव वर्ष शुभ हो
नव वर्ष मंगलमय हो
यही शुभकामना है

Monday, December 27, 2010

नव वर्ष तुम कैसे हो ?

नव वर्ष तुम कैसे हो ?
नया वर्ष
बस आने को था
तो सोचा
हाल चाल पुछू
पुछू कि
इस बरस
कैसा रहेगा
लाभ हानि
जमा खर्च का
अनसुलझा गणित
और
कैसी तबियत
रहेगी
दुश्मनों की
रकीबों की
हबीबों की
जानशिनों की
जानना चाहता था
फलसफा भी
हाल-ऐ-दुनिया
हाल - ऐ दिल भी
मगर
दिनों दिन
रातो रात
उछलती
उफनती
महंगाई की बाढ़ में
बह गए
डूब गए
सारे प्रश्न
बस
कुछ
बचे खुचे
सपनों की गठरी
सर पर लादे
शरणार्थी सा
बैठा हू
कि
आओ नव वर्ष
बचा लो
मुझे
और
मेरे निरीह देश को
इन बेईमान
और
मक्कार नेताओं से
जो
ना मरने देते है
ना जीने ही देते है
लूटते है दोतरफा
और
बिना टेक्स
ना तो
मरहम देते है
ना
मरने की इजाजत ही देते है

आशा ही करता हू
कि
नया वर्ष
शुभ होगा
उनके लिए भी
जिन्हें
हर बरस
इन्तेजार रहता है
कि
नया बरस
केलेंडर के साथ
बदल देगा
बूढी
मरियल
लाचार
व्यवस्था को
ताकि
जवां खून
दौड़ सके
पिछड़ते
देश की रगों में
और
लाचार
बूढों को
मिले कुछ विश्राम
क्योंकि
देश के सर्वोच्च आसन
सोने के लिए तो
नहीं बने है ना |